अब क्या संबंध बनाने के लिए भी इंसान की जरूरत खत्म हो जाएगी, जानें विस्तार से



दोस्तों आपने एकदम सही पढ़ा है. अगर आधुनिक युग में यानि आने वाला समय में संबंध बनाने के लिए इंसान की आवश्यक ना रहे तो हैरान मत होना. यह भी संभव हो सकता है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसी भी तकनीक के विकास की संभावना इसलिए खोजी जाती है कि इंसानी जीवन को सुदृढ़ और अधिक आधुनिक बनाया जाए और रोबोट का विकास उसी तरफ बढ़ने का एक आधुनिक कदम है. रोबोट जितना विकसित होता जा रहा है. कुछ ना ही मानव जीवन में सुधार की संभावना तलाश रहा है.


लेकिन जैसे-जैसे रोबोट के विकास के हो रहा है. साथ-साथ काफी मात्रा में चिंताओं का भी कमी नहीं हो रही है. बल्कि अंबार लग गया है. कुछ दिन पहले एक खबर बहुचर्चित हुई कि कुछ देश युद्ध में भी रोबोट का इस्तेमाल करने का अभ्यास कर रहे हैं और जाहिर सी बात है कि उनमें इसको लेकर होड़ लगी हुई है.

रोबो को लेकर समय-समय पर चिंता जाहिर कर चुके हैं इसके पीछे कई प्रकार के तर्क दिए जा सत्य है कि इसे बेरोजगारी की भयानक समस्या पैदा हो जाएगी साथ ही रोबोट का युद्ध में इस्तेमाल बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है ऐसा इसलिए हो सकता है कि और नियंत्रित होने की स्थिति में रोबो बहुत खतरनाक साबित हो जाएगा

दोस्तों, अगर शारीरिक संबंध की बात की जाए तो ऐसी कोशिशें पहले भी की जा चुकी है. लेकिन जो पहले SEX डॉल बनाई गई थी. वह काफी सरल थी. लेकिन अब नई तकनीक में इससे कई बदलाव किए जाएं चुके हैं. अब कोशिश जारी है कि उनमें रिस्पोंस भी उत्पन्न किया जा सके. रोबो विशेष स्थान पर टच करने पर वह विरोध कर सकें. इस तरह तो बलात्कारी मनोवृति को संतुष्ट कर सकती है. इसके अलावा हिंसक पॉर्नोग्राफी के दिन प्रतिदिन पॉपुलर होने के कारण ऐसे रोबोट की मांग ज्यादा मात्रा में भी बढ़ सकती है.


शारीरिक संबंधों में रोबो का इस्तेमाल और हमारे सामाजिक ताने-बाने को खतरा है. हमें यह सोचने की बात होगी कि अगर इस क्षेत्र में रोबोट तकनीक का विकास होगा तो हमारे जीवन पर बहुत बुरा गहरा असर पर सकता है. साथ ही इससे हमारे सामाजिक संतुलन पर भी बुरा असर पड़ सकता है. लेकिन रोबोट तकनीक के पक्षधर इसके बचाव में कोई न कोई काट निकाल ही लेते हैं.
रोबोट तकनीक को लेकर काफी चिंताएं हैं इस पर एक स्वतंत्र मंथन करने की जरूरत है क्योंकि इससे पहले हम रोबोट तकनीक के विकास में काफी आगे बढ़ जाएं. हम लोगों की उपयोगिता को भी कम नहीं मान सकते हैं. आज के आधुनिक युग में कई जगह पर रोबो की वजह से बहुत मुश्किल काम भी आसान हो गई है और वह अपनी भूमिका अच्छी तरह निभाता है.
हमारे मुताबिक और अधिक रोबो के विकास के लिए हम आर्थिक आधार को ही नहीं सुन सकते हैं. इसके लिए हमें नैतिक और सामाजिक दोनों परिणामों पर निष्पक्ष विचार-विमर्श करना होगा.

Post a Comment

0 Comments